सिरदर्द दूर करने के आसान और घरेलू उपाय – Sir Dard Ke Gharelu Upay In Hindi 2020

sir dard ke upay | sir dard ka ilaj | sir dard ke karan | sir dard ke gharelu upay | sir dard ke liye gharelu upay | sir dard ke liye gharelu upay | sir dard dur karne ke upay | sir dard ke upay in hindi | sir dard ke liye upay | sir dard ke upay bataye | sir me dard ke upay | sir dard thik karne ke upay | sar dard kyu hota hai | sir dard kyu hota hai in hindi | sar mein dard kyu hota hai | sir dard kyu hota hai | sir dard ka yoga
Sir Dard Ke Gharelu Upay In Hindi 2020

सिरदर्द दूर करने के आसान और घरेलू उपाय – Sir Dard Ke Gharelu Upay In Hindi 2020

आज के दौर में सिरदर्द के आम समस्या है। यह किसी भी व्यक्ति को हो सकता है। सिरदर्द कही सारे कारणों से होता है। आजकल लोगों के पास समय कम है और काम जादा है। इसकी वजह से वे अपने सेहत का अच्छी तरह ध्यान नही रख सकते है। और उनका शरीर छोटे छोटे बीमारियों का घर बन जाता है।

अगर समय होते इन सब बीमारियों को काबू न किया जाय, तो आगे जाकर यह भयंकर बीमारियों का रूप धारण करती है। आजकल लोग सिरदर्द की गोलियां भी लेने लगे है। और यह उनकी एक बुरी आदत बनने लगी है। बाद में यही दवाइयों को उनके शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

इसलिए हानिकारक दवाई लेने से अच्छा है, हम Sir Dard Ke Gharelu Upay In Hindi करें। यदि आप भी सिरदर्द परेशान है, तो आपके लिए यह लेख बहुत उपयोगी हो सकता है।

Contents hide

सिरदर्द क्यों होता है – Sir Dard Kyu Hota Hai In Hindi

Sir Dard Ke Gharelu Upay In Hindi जानने से पहले आप यह समझने की कोशिश करें के सर में दर्द क्यों होता है। सिरदर्द आपके नर्वस सिस्टम और गर्दन से जुडी एक समस्या है। जो जादा टेंशन यानि तनाव के कारण, मानसिक बीमरियों के कारण और किसी भावनात्मक तनाव और स्ट्रेस से गुजरने के बाद होती है। कही लोगों को तेज रोशिनी, अति सुगंध और शोर के कारण भी होआ है। सिरदर्द से सर,गर्दन,और पीठ में भी दर्द होता है। आजकल सिरदर्द एक आम समस्या है। पर समय रहते इसपे ध्यान न दिया जाये तो आगे जाकर यही बड़ी बीमरिया का रूप धारण क्र सकती है।

सिरदर्द के प्रकार – Types Of Headaches In Hindi

सिरदर्द के कही सारे प्रकार हो सकते है, जिसमे हम इस लेख में कुछ प्रमुख प्रकार के बारेमें जानेंगे। और आपको यह बताएंगे के सिरदर्द का कारण क्या है और आपको क्या करना चाइए।

तनाव से होने वाला सिरदर्द – Tension Headache

तनाव से होने वाला सिरदर्द एक सामान्य सिरदर्द है। यह सिरदर्द आपके द्वारा जादा स्ट्रेस या तनाव लेने से होता है। यह सिरदर्द काफी लोगों में एक सामान्य व जल्दी ठीक होने वाला सिरदर्द है।

इस सिरदर्द के वजह से आपके सिर के दोनों हिस्सो में काफी दर्द महसूस होता है। और आपके कंधे व गर्दन की मांसपेशियों में खिंचाव आता है। यह एक तरह जकड़ जाती है। और कही जगह पे सूजन महसूस हो सकती है।

इस तरह का सिरदर्द सामन्यतः जादा तनाव यानी स्ट्रेस, देर रात तक न सोना और सिर पर चोट लगने की वजह से भी हो सकता है। कुछ मामलों में यह सिरदर्द तेज और ठंडी हवा के संपर्क में आने से भी होता है। सर्दियों का मौसम हो या आप किसी एयर कंडीशन के सम्पर्क में आये तो आपको यह सिरदर्द महसूस हो सकता है।

माइग्रेन से होने वाला सिरदर्द – Migraine Headache

माइग्रेन एक सबसे शक्तिशाली सिरदर्द का प्रकार है। यह मतली, उल्टी, या प्रकाश के प्रति अति संवेदनशील होता है। माइग्रेन 4 घंटे से लेकर 3 दिन तक रह सकता है। कभी कभी यह और भी लंबा हो सकता है।

यह सिरदर्द एक सुस्त सिरदर्द के रूप में शुरू होता है। आगे जाकर एक बड़े और जोरोसे धड़कते हुए सिरदर्द में परिवर्तित होता है। यह शाररिक गतिविधियों के दौरान और भी जादा खराब हो जाता है। यह सिरदर्द सिर एक हिस्से से दूसरे हिस्से में जाता है। आपको ऐसा महसूस होता है के आपके सिर में कोहि कील घुसा रहा हो।

आपको प्रकाश, शोर और बदबू के प्रति बहुत जादा मात्रा में संवेदनशीलता होना। मतली और उल्टी, पेट में जलन, और पेट में दर्द होना। बहुत गर्म या ठंडी त्वचा का दिखना, यह महसूस हो सकता है।

क्लस्टर सिरदर्द – Cluster Headache

यह सिरदर्द एक प्रकार का तीव्र और अधिक तकलीफदेह सिरदर्द होता है। क्लस्टर सिरदर्द आपको रात में जगाता है। सिर का एक तरफ का हिस्सा और आंखों के आसपास के जगह पर तीव्र दर्द महसूस होता है।

यह एक हफ्ते से लेकर एक महीना तक रह सकता है। इस सिरदर्द के दौरान सिर का एक तरफ हिस्सा दर्द होना, आंखों में जलन और आंख लाल होना, बेचैनी होना, प्रभावित क्षेत्र की तरफ नाक का बहना, त्वचा पर पसीना आना, चक्कर आना जैसे आपको महसूस हो सकता है।

साइनस से होने वाला सिरदर्द – Sinus Headache

साइनस से होने वाला सिरदर्द अक्सर सिर के अग्र हिस्से में और चेहरे पर महसूस होता है। यह सिरदर्द नाक, कान और सिर में होने वाले साइनस की कैविटी से होता है।

यह सिरदर्द सुबह उठने के बाद अचानक तीव्र होता है। सर्दियों के मौसम में यह सिरदर्द बहुत तीव्र होता है। साइनस से होने वाला सिरदर्द सर्दी-जुकाम से, धूल-मिट्टी में जाने से भी होता है।

सिरदर्द के प्रमुख कारण – Sir Dard Ke Karan In Hindi

सिरदर्द के कही कारण हो सकते है। यह एक सामान्य समस्या है। जो कभी भी लोगों को त्रस्त कर सकते है। कभी कभी सिरदर्द का असर बहुत दर्दनाक भी हो सकता है। इस लेख में हम सिरदर्द के कुछ प्रमुख कारणों के बारेमें जानेंगे। आप इनपर ध्यान देकर अपने सिरदर्द को दूर कर सकते है।

  1. तनाव
  2. तीव्र आवाज़ से
  3. तीव्र रोशनी से
  4. बहुत जादा भूका रहने से
  5. सर्दी के कारण
  6. ठंडे हवा के कारण
  7. सिर पर चोट लगने से
  8. हार्मोन्स में होने वाले बदलाव से
  9. माइग्रेन के कारण
  10. साइनस के कारण
  11. बुखार जादा होने से
  12. जादा देर तक फोन पे बात करने से
  13. कंप्यूटर के सामने जादा वक्त बिताने से
  14. देर रात तक न सोने से
  15. धूल और प्रदूषण के कारण
  16. थकावट के कारण

सिरदर्द दूर करने के उपाय – Sir Dard Ke Upay In Hindi

तुलसी (Basil)

हम सबको पता है के तुलसी एक औषधीय वनस्पति है। यह एक Sir Dard Ke Gahrelu Upay In Hindi है। तुलसी में कही प्रकार के औषधीय गुण होते है। यह न केवल सर्दी जुकाम को काबू करने में मदद करता है बल्कि सिरदर्द को दूर करने के लिए भी काफी उपयुक्त है।

तुलसी का हम कही प्रकार से उपयोग कर सकते है। सिरदर्द, सर्दी जुकाम, बुखार व वजन कम करने में भी तुलसी का इस्तेमाल होता है। तुलसी के पौधे का कही सारे फायदे है।

तुलसी के तेल को अन्य तेल में मिलाकर माथे या सिर में मालिश करने से सिरदर्द की समस्या दूर हो सकती है। इस तेल को उंगलियों के सहयोग से माथे से लेकर गर्दन तक मालिश करें। ऐसा करना से आपका सिरदर्द दूर होकर आपको राहत मिलेगी।

इस तेल से मालिश करने से तनाव व माइग्रेन की समस्या दूर होती है। यह तेल सिर और गर्दन के मांसपेशियों में होने वाले खिचाव को दूर करता है। और आपको दर्द से राहत दिलाता है।

अदरक (Ginger)

सिरदर्द के समस्या के लिए अदरक काफी असरदार होता है। अदरक का सेवन करने से आप माइग्रेन व साइनस से होने वाले सिरदर्द को दूर कर सकते है। यह सर्दी जुकाम के लिए भी काफी फायदेमंद होता है।

अदरक के तीन चार टुकड़ो को घिसकर और उसे एक बर्तन में पानी मे उबले। फिर इस पानी को थोड़ा देर ढक ले, और थोड़ा ठंडा करें। फिर इस पानी का सेवन करें। इसक सेवन करने से आपके सिरदर्द की समस्या दूर होकर आप जल्दी फ्रेश महसूस करोगे।

अदरक का जादा मात्रा में सेवन न करें। इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से आपको नुकसान हो सकता है। इसलिए आप इसका पर्याप्त मात्रा में सेवन करना चाइए।

पुदीना का तेल (Peppermint Oil)

सिरदर्द दूर करने के लिए पुदीना का तेल भी काफी असरदार होता है। पुदीना में मेंथोल मौजूद होता है। यह सिर को ठंडा रखता है। पुदीना भी काफी गुणकारी पौदा है। इसमें कही तरह के गुण है।

यह तेल आपको दर्द से राहत देकर सिर को ठंडा रखने में मदद करेगा। यह सिर मासंपेशियों को आराम देकर मांशपेशियों को शांत रखेगा। यह तनाव से होने वाले सिरदर्द को शांत करता है। और माइग्रेन में काफी असरदार होता है।

दो बूंद पुदीना के तेल लेकर इसे जैतून या नारियल के तेल में मिला ले। इसे अच्छी तरह मिक्स करने के बाद माथे पर लगा ले। यह कुछ अंतराल के बाद लगाने से आपकी सिरदर्द की समस्या कम हो जाएगी।

सिर दर्द का इलाज – Sir Dard Ka Ilaj In Hindi

ठंड व गरम सेख

कही बार सिरदर्द होने पर दवाई लेने से अच्छा आप घरेलू उपचार से उसे ठीक कर सकते है। कभी कभी सिकाई करने से आपके सिर मासपेशियों में खिंचाव होता है, वह दूर होकर सिर शांत रहता है।

सिकाई करने से काफी फायदे होते है। इसका उपयोग आपका सिरदर्द दूर हो सकता है। सिकाई से कही सूजे होने पर राहत मिलती है। और आपका दर्द कम होता है। ठंड सेक माइग्रेन के लिए काफी असरदार होता है। और गरम सेक मांसपेशियों को आराम देता है।

अगर आपको कभी गरमी के दिनों में सिरदर्द समस्या होती है , तो बर्फ के टुकड़े आइस बैग में लेकर उससे सेक ले। आप आइस बैग के अलावा बर्फ़ के टुकड़ो को एक कपड़े पे लपेट कर भी सेक ले सकते है।

अगर कभी सर्दियों के दिनों में सरदर्द जैसे समस्या से पीड़ित होते है। तो आप हॉट वाटर बाग यानी गरम पानी की बैग लेकर सेक ले सकते है। यह आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है।

लैवेंडर का तेल (Lavender Oil)

लैवेंडर के तेल को सूंघने से आप सिरदर्द की समस्या से निजात पा सकते है। सिरदर्द की समस्या में लैवेंडर का तेल काफी असरदार होता है। एक रिसर्च के नुसार लैवेंडर के तेल को सूंघने से आप सिरदर्द के समस्या को दूर कर सकते है।

लैवेंडर के तेल की कुछ बूंदे गरम पानी मे डालकर उसकी भाप लेने से सिरदर्द दूर होता है। आप लैवेंडर की तेल के दो बूंदे टिश्यू पेपर पर लेकर भी सूंघ सकते है।

इसके अलावा लैवेंडर की तेल की कुछ बूंदे बादाम की तेल में मिला ले। फिर इसे तेल से माथे पर हल्की हल्की मालिश करें। इससे आपकी सिरदर्द की समस्या काफी जल्दी दूर होगी।

नींबू और गरम पानी (Lemon and Hot Water)

कभी कभी सिरदर्द का कारण बहुत छोटा हो सकता है। जिसे की अमतौर पर पेट खराब होने का कारण, या अपचन के कारण भी आपका सर दर्द कर सकता है। और हम सभी को पता है के नींबू और गरम पानी पेट को साफ करने के लिए काफी उपयोक्त होता है।

कुछ लोगो को गैस की समस्या अक्सर सताती है। उनको सिरदर्द भी होता है। और गैस को कम करने में नींबू पानी से बेहतरीन कोहि भी उपाय नही है। नींबू पानी बनाना काफी आसान व सरल होता है।

नींबू पानी बनाने के लिए एक गिलास गुनगुना पानी मे आधा नींबू निचोड़ लें। और उसमें एक चम्मच शहद मिला ले। इस मिश्रण को अच्छी तरह मिलने के बाद इसका सेवन करें।

सिरदर्द के घरेलू उपाय – Sir Dard Ke Gharelu Upay In Hindi

लौंग (Cloves)

दांत के दर्द दूर करने के लिए लौंग का उपयोग सभी जानते है। दांत में तकलीफ होने पर हम सभी लौंग का उपयोग करते है। पर सिरदर्द को दूर करने के लिए आप लौंग का भी उपयोग कर सकते है।

लौंग में एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण होते है। यह सिरदर्द को कम करते है। और आपको सिरदर्द की समस्या से राहत देते है। लौंग का उपयोग तनाव को दूर करने के लिए भी होता है।

लौंग को आप एक कपड़े में लपेट कर सिरदर्द के दौरान सूंघने से सिरदर्द से राहत मिल सकती है। लौंग के तेल को बादाम के तेल में मिलाकर इससे आप माथे पर लगा सकते है। ऐसा करने से आपको कम समय मे सिरदर्द से राहत मिल सकती है।

ग्रीन टी (Green tea)

वजन को घटाने के लिए ग्रीन टी का इस्तेमाल हम सभी जानते है। पर सिरदर्द को कम करने के लिए भी ग्रीन टी का उपयोग होता है। ग्रीन टी में काफी सारे औषधीय गुण मौजूद होते है। ग्रीन टी का सेवन करने से आपकी सेहत तो अच्छी रहेगी पर सिरदर्द के समस्या से राहत पा सकते है।

ग्रीन टी में थोड़े मात्रा में कैफीन मजूद होता है। यह आपके मस्तिष्क को चलाना देता है। इसकी वजह से आप सिरदर्द समस्या से राहत पा सकते है।

ग्रीन टी के दो बैग को गरम पानी मे डालकर निकाल ले। फिर इसमें छोटा नींबू को निचोड़ लें, और एक चम्मच शहद को मिला ले। यह दिन में दो बार सेवन करने से आप सिरदर्द के परेशानी से छुटकारा पा सकते है।

कॉफ़ी (Coffee)

कॉफ़ी कैफीन की मात्रा है। और यह कैफीन मस्तिक्ष को चलना देता है। और आपके सिरदर्द को दूर करता है। कॉफ़ी बहुत से फायदे होते है। कॉफ़ी से आपको फ्रेश महसूस होता है। आजकल चाय और कॉफ़ी कही लोग आदि हो गए है। कॉफ़ी मौजूद कैफीन ताजगी प्रदान करता है।

कैफीन सिरदर्द के लिए एक रामबाण इलाज के रूप में होता है। इसलिए कॉफ़ी का रोजाना सेवन करने से आप सिरदर्द से छुटकारा पा सकते है।

सिरदर्द के लिए योगासन – Sir Dard Ka Yoga In Hindi

पद्मासन (Padmasana)

sir dard ka ilaj के लिए पद्मासन काफी उपयुक्त आसान है। इसका रोजाना करने से आप सिरदर्द की समस्या को दूर कर सकते है।

शवासन (Shavasana)

शवासन का रोजाना अभ्यास करना sardi se sir dard ka ilaj है। आप यह योग रोजन कर सकते है और सिरदर्द से छुटकारा पा सकते है।

अर्द्ध पिंचा मयूरासन (Ardha Pinch Mayurasana)

अर्द्ध पिंचा मयूरासन एक Sir dard dur karne ke upay है। आप इसका नियमित रूप से अभ्यास कर सकते है।

पश्चिमोत्तानासन (Paschimottanasana)

पश्चिमोत्तानासन का उपयोग करके आप अपने बीमरियों को दूर कर सकते है। यह Sir Dard Ke Gharelu Upay है।

पादंगुष्ठासन (Padungusthasana)

सिरदर्द से रहत पाने के लिए पादंगुष्ठासन एक बेहतरीन आसन है। इस आसन को स्ट्रेस बस्टर आसन भी कहा जाता है।

वीरासन (Veerasan )

वीरासन ध्यान करने वाले आसन भी कहा जाता है। इस आसन करने के लिए सुबह समय उचित माना जाता है। वीरासन सिरदर्द की समस्या से आपको छुटकारा दे सकता है।

दोस्तो हम उम्मीद करते है के सिरदर्द दूर करने के आसान और घरेलू उपाय – Sir Dard Ke Gharelu Upay In Hindi 2020, अच्छा लगा हो। हमारी यही कोशिश है के आपको सिरदर्द की कोहि समस्या के निजात, घरेलू उपाय दिये जाए।

अगर आपको आपको सिरदर्द दूर करने का तरीका पसंद आया हो तो कृपया ये पोस्ट अपने परिवार या मित्रो के साथ शेयर करे। ताकि उन्हें भी इसका लाभ हो। आपको Sir Dard Ke Gharelu Upay के बारेमें कोई भी समस्या हो तो निचे कमेंट बॉक्स में पूछिए। धन्यवाद HindiJunction आने के लिए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here